अब फ़्रांस की मशहूर कार कंपनी बनाएगी एम्बैसडर कार

भारत की सबसे पुरानी कार निर्माता कंपनी में से एक हिंदुस्तान मोटर्स को सभी जानते है काफी सालों से कंपनी का करोबर कुछ ख़ास फायदा उठा नही पाई है ज्यादातर जिनती भी कारें इस कंपनी में आर्डर देकर या फिर सरकारी इस्तेमाल के लिए बनाई जाती थी, मशहूर एम्बैसडर ब्रांड को नए मालिक योरोपियन वाहन कपनी पॉइजोट(Peugeot) होंगे. इस ब्रांड विष्व के सबसे पुरानी और जानी मानी कंपनी में से एक है. हिंदुस्तान मोटर्स ने इस ब्रांड को यूरोपीय वाहन कंपनी पॉइजोट को 80 करोड़ रुपए में बेच दिया है.

 

हिंदुस्तान मोटर्स ने शनिवार को शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा, ‘हिंदुस्तान मोटर्स ने एम्बैसडर ब्रांड की बिक्री के लिए पॉइजोट एसए से करार किया है. सीके बिड़ला समूह की कंपनी ने इस बारे में पॉइजोट एसए के साथ करार किया है. फिलहाल एम्बैसडर कारों का विनिर्माण रोक दिया गया है इसमें ट्रेडमार्क भी शामिल है. यह सौदा 80 करोड़ रुपए में हुआ है.

पिछले महीने पीएसए(PSA) समूह और सीके बिडला ग्रूप ने साथ 50:50 फीसदी निवेश कर एक मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगनी की तयारी की जिसके तहेत तमिलनाडु में प्लांट लगाया जाएगा, इस प्लांट की गाड़ियाँ बनाने की शमता 1 लाख गाड़िया प्रति सालाना होगी, जिसके लिए 700 करोड़ रुपए की लागत से इस प्लांट को तयार किया जाएगा, 2019 में होसुर का प्लांट शुरू हो जाने को कहा है.

 

पीएसए कार ग्रुप मैं Peugeot, Citroen और DS ब्रांड्स की कारें बनाता है, जो की अम्बसेदर से भी  कई ज्यादा मसहूर गाड़िया गाड़ियाँ है दुनिया भर में इस ग्रुप में लक्स्ज़री गाड़ियाँ, मोटर साइकिल, स्कूटर बनाई जाते हैं.

 

भारत में यह दोनों जॉइंट वेंचर कर अब बाकि कार निर्माता कंपनी को ज़ोरदार मुकाबला देने के लिए तयार हो गयी हैं. अनुमान है कि साल 2025 तक भारत में 80 लाख से एक करोड़ कार बनने लगेंगे. साल 2016  में यह आंकड़ा 30 लाख के करीब है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here