SAWAN : देश का एक ऐसा मंदिर जहां, एक नहीं दो नहीं बल्कि विराजमान है 1 करोड़ शिवलिंग
SAWAN : देश का एक ऐसा मंदिर जहां, एक नहीं दो नहीं बल्कि विराजमान है 1 करोड़ शिवलिंग

SAWAN : देश का एक ऐसा मंदिर जहां, एक नहीं दो नहीं बल्कि विराजमान है 1 करोड़ शिवलिंग

देश विदेश में भगवन शिव के बहुत सुन्दर सुन्दर मंदिर है आपने भी शिव के कई मंदिर देखे होंगे हम आपको भारत के एक ऐसे मंदिर के बारे बताने जा रहे है की भारत में ऐसा मंदिर है जहां शिव भगवान का एक नहीं मिलियन शिव लिंग है. जी हां, कर्नाटक के इस मंदिर में 2 या 3 नहीं बल्कि 1 करोड़ (9 मिलियन) शिवलिंग बने हुए है.इस मंदिर में भगवान शिव के चारो और शिवलिंग विराजमान है यहाँ जाकर आपको हर जगह शिवलिंग ही दिखाई देंगे.

इस मंदिर की स्थापना ऐसे की गई थी :- 

ऐसा माना जाता है कि कर्नाटर कोलार के कोटिलेश्वर मंदिर की स्थापना एक श्राप के कारण हुई है.  मान्यताओं के अनुसार, जब भगवान इंद्र को गौतम नाम के एक ज्ञानी ने श्राप दिया था तो उन्होंने इस श्राप से मुक्ति पाने के लिए कोटिलिंगेश्वर मंदिर में शिवलिंग को स्थापित किया था.इतना ही नहीं, श्राप से मुक्ति पाने के लिए इंद्र ने यहां मौजूद शिवलिंग का अभिषेक 10 लाख नदियों के पानी से किया था.

दुनिया का सबसे ऊंचा शिवलिंग :- 

इस मंदिर में दुनिया का सबसे अच्छा शिवलिंग स्थापित है जिसकी उचाई 108 फिट है. मंदिर के चारों तरफ करीब 1 करोड़ छोटे-छोटे शिवलिंग स्थापित किए गए हैं और इनके चारों तरफ देवी मां, श्री गणेश और श्री कुमारस्वामी की प्रतिमाएं हैं.

नंदी भगवान की मूर्ति भी है स्थापित :- 

छोटे-छोटे शिवलिंग के बीच में नंदी भगवान की मूर्ति भी स्थित है इस मंदिर में शिवलिंह ही नहीं बल्कि नंदी की मूर्ति भी सबसे बड़ी है.नंदी भगवान की यह मूर्ति 35 फीट ऊंची, 60 फीट लंबी, 40 फुट चौड़ी है, जो 4 फीट ऊंचे और 40 फुट चौड़े चबूतरे पर स्थापित है.

मन्नत पूरी होते ही श्रद्धालु करते है शिवलिंग स्थापित :- 

इस मंदिर में आए दिन शिवलिंग की संख्या बढ़ती ही रहती है. दरअसल, लोग अपनी इच्छा पूरी होने के बाद यहां शिवलिंग स्थापित करके जाते हैं, जिसके कारण यहां 1 करोड़ से भी ज्यादा शिवलिंग स्थापित हो गए हैं. सावन और शिवरात्रि के समय में यहां भीड़ दोगुनी हो जाती है।.इस मंदिर में दर्शन करने के लिए टूरिस्ट देश-विदेश से आते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here